राज्य ने दो महान व्यक्तिमत्व को खो दिया- राज्यपाल

जिवा सोमा म्हसे, लावणी सम्राज्ञी यमुनाबाई वाईकर के निधन पर राज्यपाल ने शोक जताया

मुंबई: राज्यपाल चेन्नमनेनी विद्यासागर राव ने प्रसिद्ध वारली चित्रकार जिवा सोमा म्हसे और लावणी सम्राज्ञी यमुनाबाई वाईकर के निधन पर गहरा शोक जताया है। उनके निधन से राज्य ने दो बड़े व्यक्तिमत्व को आज खो दिया है, इन शब्दों में राज्यपाल ने अपनी भावना व्यक्त की।

पद्मश्री जिवा सोमा म्हसे ने दुनिया के सामने आदिवासी समाज का जीवन एवं उनके रीति-रिवाज अपने चित्रों के माध्यम से रखे। उन्होंने समृद्ध परंपरा के माध्यम से प्राप्त वारली चित्रकला का ज्ञान अपनी अंगीकृत कला प्रतिभा और प्रयोगशीलता से बढ़ाया। जिवा सोमा म्हसे वारली चित्रकला का एक विश्वविद्यालय ही था। उनकी कला को सुरक्षित रखने और उसे अगली पीढ़ि तक पहुंचाना ही उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि होगी, यह राज्यपाल ने अपने शोक संदेश में कहा।

लावणी सम्राज्ञी यमुनाबाई वाईकर

पद्मश्री श्रीमती यमुनाबाई वाईकर राज्य की प्रसिद्ध लावणी एवं तमाशा कलाकार थी। सभी नए कलाकारों के लिए वह प्रेरणास्थान थी। उन्होंने अपना पूरा जीवन कलासाधना और कलासेवा को समर्पित किया। श्री जिवा सोमा म्हसे और श्रीमती यमुनाबाई वाईकर के निधन से राज्य ने आज दो महान व्यक्तिमत्व को खो दिया है। उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करता हूँ, यह विद्यासागर राव ने कहा।