कॉमनवेल्थ गेम्स में तेजस्विनी सावंत और अनीश ने जीता गोल्ड

गोल्ड कोस्ट: कॉमनवेल्थ गेम्स में शुक्रवार सुबह भारत की झोली में तीन पदक और आ गए। 50 मीटर राइफल 3 पोजिशन्स में में तेजस्विनी सावंत ने गोल्ड मेडल और अंजुम मौदगिल ने सिल्वर मेडल जीत लिया। वहीं शूटर अनीश ने 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल में देश के लिए गोल्ड जीता।

आठवें दिन ही 50 मी. राइफल प्रोन में रजत जीतने वाली तेजस्विनी सावंत ने इस बार 50 मी. राइफल पोजीशन-3 वर्ग में नया रिकॉर्ड बनाते हुए स्वर्ण पदक पर कब्जा कर लिया, तो इसी वर्ग में अंजुम मोदगिल ने रजत पदक हासिल किया। इसी के साथ ही अब तक भारत के पदकों की संख्या 34 हो गई है। इसमें 16 स्वर्ण, 8 रजत और 10 कांस्य पदक शामिल है।

तेजस्विनी ने फाइनल में नीलिंग (152.4), प्रोन (310.1) और स्टैंडिंग (एलिमिनेशन) मिलाकर कुल 457.9 अंक हासिल कर गोल्ड मेडल अपने नाम किया। यह (457.9 अंक) कॉमनवेल्थ गेम्स में रिकॉर्ड भी है। अंजुम मौदगिल ने नीलिंग (151.9), प्रोन (308) और स्टैंडिंग (एलिमिनेशन) मिलाकर 455.7 अंक हासिल किए। उन्होंने सिल्वर जीता। स्कॉटलैंड की सियोनैड मैकिन्टोश ने नीलिंग (150.2), प्रोन (304.7) और स्टैंडिंग (एलिमिनेशन) मिलाकर 444.6 अंक हासिल किए और अपने देश के लिए ब्रॉन्ज जीता।

तेजस्विनी ने 2010 म्यूनिख (जर्मनी) वर्ल्ड चैम्पियनशिप में 50 मीटर राइफल प्रोन में गोल्ड जीता था। वर्ल्ड चैम्पियनशिप में गोल्ड जीतने वाली पहली महिला खिलाड़ी हैं।
तेजस्विनी ने 2010 दिल्ली कॉमनवेल्थ गेम्स में 50 मीटर राइफल प्रोन में सिल्वर, पेयर्स 50 मीटर राइफल प्रोन में ब्रॉन्ज, पेयर्स 50 मीटर 3 राइफल पोजिशन में ब्रॉन्ज जीता था।
वह 2006 मेलबर्न कॉमनवेल्थ गेम्स में 10 मीटर एयर राइफल और पेयर्स 10 मीटर एयर राइफल में गोल्ड मेडल जीत चुकी हैं। गोल्ड कोस्ट गए भारतीय शूटरों के दल में वह सबसे उम्रदराज महिला हैं।

25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल के फाइनल्स में स्टेज 1 के बाद शूटर अनीश का स्कोर 13 था। बाद में स्टेज 2 एलिमिनेशन के पांच राउंड में उन्होंने 17 अंक और हासिल किए। इस तरह कुल 30 के स्कोर के साथ उन्होंने गोल्ड मेडल पर कब्जा जमाया। यह कॉमनवेल्थ गेम्स में उनका रिकॉर्ड भी है। इस कैटेगरी का सिल्वर ऑस्ट्रेलिया के सर्गेई एवेलस्की (कुल 28 अंक) और ब्रॉन्ज मेडल इंग्लैंड के सैम गोविन (कुल 17 अंक) ने जीता।

Facebook Comments