महाराष्ट्र-क्यूबेक के बीच आर्थिक सहयोग के लिए समझौता करार पर किए हस्ताक्षर सीडीपीक्यू, बॉम्बार्डियर राज्य में करेंगे निवेश

मुंबई : महाराष्ट्र और कैनडा के बीच क्यूबेक प्रांत में आर्थिक सहयोग को मजबूती मिलेगी. सुचना तकनिकी, जैविक तकनिकी, एरोनॉटिक्स, ऊर्जा, आर्टिफिशियल इंटिलिजन्स और आदिवासी कल्याण आदि क्षेत्रों में व्यापक सहयोग के संबंध में महत्वपूर्ण करार पर मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और क्यूबेक के प्रधानमंत्री फिलिप क्युलार्ड ने आज हस्ताक्षर किए. साथ ही निधि व्यवस्थापन की महत्वपूर्ण सीडीपीक्यू संस्था के साथ बॉम्बार्डियर उद्योगों ने महाराष्ट्र में निवेश करने के लिए तैयारी दर्शाई है.

मुख्यमंत्री के नेतृत्व में राज्य का प्रतिनिधि मंडल इस समय कैनडा के दौरे पर है. आज मॉन्ट्रिएल में मुख्यमंत्री ने श्री. क्युलार्ड से मिलकर चर्चा की. इस मुलाकात में विभिन्न महत्वपूर्ण विषयोंपर चर्चा हुई. महाराष्ट्र में बड़े पैमाने पर युवाओं की संख्या है, आगामी समय में उन्हें अधिकाधिक रोजगार के अवसर उपलब्ध करवाने के लिए बंदरगाह क्षेत्रों में आर्टिफिशियल इंटिलिजन्स तकनिकी का अधिकाधिक उपयोग करना आवश्यक है. इस दृष्टि से महाराष्ट्र और क्यूबेक प्रांत के बीच आर्टिफिशियल इंटिलिजन्स तकनिकी का व्यापक पैमाने पर आदान-प्रदान के सन्दर्भ में सकारात्मक चर्चा हुई. इस चर्चा के बाद दोनों राष्ट्रों में आर्थिक सहयोग मजबूत करने के लिए एक समझौता करारपर हस्ताक्षर किए गए. इस समय क्यूबेक के आंतरराष्ट्रीय व्यवहार मंत्री क्रिस्टिन सेंट पेरी की प्रमुख उपस्थिति थी. कल क्यूबेक की उप प्रधानमंत्री श्रीमती डॉमनिक अँग्लेड से भी अत्यंत उपयोगी चर्चा हुई थी.

सीडीपीक्यू के अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी मायकेल साबिया से भी मुख्यमंत्री मिले. सीडीपीक्यू संस्थात्मक निधि व्यवस्थापन कंपनी है. लगभग 298 अब्ज डॉलर्स के निधि का यह कंपनी करती है. कैनडा से अधिकाधिक पेन्शन फंड निवेश भारत में आ सकेगी, यह इस बैठक का मुख्य उद्देश्य था. भारत की कुछ संस्थाओं से भागीदारी करने के साथ ही रिटेल व्यवसायियों के साथ काम करने की सीडीपीक्यू की मंशा है. महाराष्ट्र में समृद्धि महामार्गा, लॉजिस्टिक पार्क आदि क्षेत्रों में निवेश के अवसर की जानकारी इस समय मुख्यमंत्री श्री. फडणवीस ने दी.

राज्य के प्रतिनधि मंडल ने शाम के समय परिवहन क्षेत्र में विश्व स्तर पर अग्रणी विमान और रेलवे उत्पादक कंपनी बॉम्बार्डियर के संचालक मंडल के अध्यक्ष और कंपनी प्रमुख पिअरी ब्युदाँ से मिलकर वार्तालाप किया. इस चर्चा के दौरान महाराष्ट्र में मेट्रोसमेत परिवहन विषय से संबंधित बुनियादी सुविधा क्षेत्रों में सहयोग करने की तैयारी कंपनी ने दिखाई है. राज्य में परिवहन क्षेत्र में नया आयाम देने के लिए महत्वपूर्ण साबित होनेवाले समूह के इस सहयोग के लिए मुख्यमंत्री ने श्री. ब्युदाँ का आभार माना. इस समय मुख्यमंत्री के अतिरिक्त मुख्य सचिव प्रवीण परदेशी, सुचना तकनिकी विभाग के प्रधान सचिव एस.वी. आर. श्रीनिवास, एमआयडीसी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी संजय सेठी आदि उपस्थित थे.