इस पार्लर में सोने के वस्तरे से होती है दाढ़ी !

सांगली : व्यवसाय में स्पर्धा और कुछ नया देने का संघर्ष हर व्यवसाइक करता है। अपने व्यापार के बारे में कई लोग कम-अधिक मात्रा में संवेदनशील रहते है। अपने व्यापर को बढ़ाने के लिए या व्यापार बनाये रखने के लिए कौन कब क्या करेगा ये बता नहीं सकते।

सांगली के एक मेन्स पार्लर के मालिक ने अपने पार्लर में दाढ़ी बनाने के लिए विशेष सोने का वस्तरा बनाया है। इस व्यवसाइक का नाम है रामचंद्र काशिद। अपना व्यापार जिस चीज से चलता है वह चीज व्यवसाय मालिक को बहुत प्रिय रहती है। इसलिए काशिद ने पुरे साडेदस तोले सोने का वस्तरा तैयार किया है।उम्मीद है कि इस वस्तरे से दाढ़ी करने के लिए इस पार्लर में बहोत भीड़ लग जाएगी।

18 कैरट सोने का यह वस्तरा तीन लाख रुपये का हुआ है। और काशिद ने इस वस्तरे से सबसे पहले अपने पिता की दाढ़ी की। यह अवसर भी अद्वितीय था। उन्होंने अपने माता-पिता की 33 वीं शादी की सालगिरह का अवसर पर यह मुहूर्त निकला है।

सांगली के चंदूकका सराफ के प्रबंधक महावीर पाटिल ने यह सोने का वस्तरा बनाने की चुनौती दी। पुणे के मिथुन राणा इस कारागीर ने बड़ी मेहनत से 20 दिनों में सोने का वस्तरा सेम टू सेम लेकिन 10.5 तोले का बनाके दिया।

इस वस्तरे से दाढ़ी बनाने के कीमत ज्यादा रहेगी लेकिन साल में एक बार तो भी इस वस्तरे दाढ़ी बनाने की इच्छा हर कोई पूरी करेगा। यह निश्चित है।