अब सस्ता होगा घर और गाड़ी खरीदना, RBI कर सकता है ब्याज दरों में कटौती

फोन आणि आयुष्य यांचा योग्य ताळमेळ साधने जरुरी

नई दिल्ली: 6 दिसंबर को होने वाली RBI की मॉनिटरी पॉलिस कमिटी (MPC) की अगली बैठक में ब्याज दरों में कटौती हो सकती है. और आरबीआई से 0.25 फीसदी तक कटौती की उम्मीद की गयी है.

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार, बैंक ऑफ अमेरिका मेरिल लिंच ने अपनी रिपोर्ट में इसकी संभावना जताई है। मेरिल लिंच की रिपोर्ट के मुताबिक रिटेल महंगाई अभी स्थिर है. अक्टूबर महीने में भी CPI 3.3 फीसदी रहने का अनुमान है. ऐसे में आरबीआई के पास दरों में कटौती की गुंजाइश रहेगी.

सस्ता हो सकता है कर्ज

अगर केंद्रीय बैंक की तरफ से दरों में कटौती कर दी जाती है, तो इसका सीधा फायदा आम लोगों को सस्ते कर्ज के तौर पर मिल सकता है. होम लोन और कार लोन के सस्ता होने की उम्मीद.

बता दे , ब्रोकरेज फर्म ने उम्मीद जताई है कि अक्टूबर महीने में उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति सितंबर के स्तर पर बनी रहेगी. सितंबर में यह मुद्रास्फीति 3.3 फीसदी थी. रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत की ग्रोथ इस दौरान बेहतर रहने की उम्मीद है. आर्थिक दर 7 फीसदी के आसपास रह सकती है. इससे आरबीआई के सामने रेट कट करने की गुंजाइश है.