एलजी हाउस में मनीष सिसोदिया और सत्येंद्र जैन अनशन पर

नई दिल्ली : दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल उपराज्यपाल अनिल बैजल के आवास में 3 दिनों से धरने पर बैठे हैं। केजरीवाल ने कहा कि, मैं दिल्ली की जनता के लिए उन लोगों के खिलाफ लड़ रहा हूं, जिन लोगो ने सार्वजनिक सेवाएं बंद कर दी हैं। केजरीवाल सहित पार्टी के चार नेता सोमवार शाम से अपनी मांगों को लेकर उपराज्यपाल के दफ्तर में धरने पर बैठे हुए हैं। उनका कहना है जब तक उनकी मांगे पूरी नहीं होगी तब तक वह धरने पर ही रहेंगे। इसी दौरान सत्येंद्र जैन और मनीष सिसोदिया ने अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल शुरू कर दी है।

मनीष सिसोदिया ने उपराज्यपाल को ट्विटर के माध्यम से कहा कि , ‘दिल्ली की जनता को उसका हक दिलाने और उनके रुके हुए काम कराने के लिए आज से मैं भी अनिश्चितकालीन अनशन पर बैठ रहा हूं। सत्येंद्र जैन जी का अनशन भी कल से जारी है। हमारा इच्छाशक्ति और जनता का विश्वास ही हमारी ताकत है।’ इसके पहले भी उन्होंने एक ट्वीट किया और कहा था कि,” एलजी साहब के वेटिंग रूम में इंतज़ार करते हुए आज तीसरा दिन है। उन्हें वक्त नही मिला है कि IAS अफसरों की हड़ताल खत्म करने के आदेश दे सकें और राशन की फाइल पर मंजूरी दे सकें। तीन दिन से एलजी साहब का कुछ ना करना और उनकी जिद प्रमाण है कि IAS हड़ताल एलजी के इशारे पर ही चल रही है।”

दिल्ली में ऐसा पहली बार हो रहा है जब मुख्यमंत्री और उनके मंत्रियों ने अपनी मांगों को मनवाने के लिए एलजी दफ्तर में रात गुजारी हो । एलजी दफ्तर में पूरी रात गुजारने के बाद सुबह में केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘सत्येंद्र जैन ने बेमियादी अनशन शुरू कर दिया है।’ जैन ने सुबह 11 बजे एलजी दफ्तर पर अपना अनशन शुरू किया। हालांकि मंगलवार को एलजी अपने दफ्तर नहीं गए। लेकिन फिलहाल यह मामला किसी नतीजे पर पहुंचता नज़र नहीं आ रहा है। अरविंद केजरीवाल के घर से खाने के डिब्बे एलजी हाउस में लगातार आते रहेंगे।