हॉर्स ट्रेडिंग को तो ‘आर्ट’ है! – चेतन भगत

- देखते कौन मारता है बाजी

नई दिल्ली : कर्नाटक में किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिला है. इसपर अंग्रेजी उपन्यासकार चेतन भगत ने ट्वीट किया है. त्रिशंकू विधानसभा की स्थिति में हॉर्स ट्रेडिंग (खरीद-फरोख्त) को सरकार बनाने की एक ‘कला’ बताया है.

चेतन भगत ने लिखा है ‘त्रिशंकू विधानसभा की स्थिति में कोई नैतिकता नहीं बच पाती है. इसलिए दोनों ही पक्ष नैतिकता सिखाना बंद करें, यह बेकार की कवायद है. हॉर्स ट्रेडिंग भी सरकार बनाने की एक कला है. बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही के लिए यह एक और परीक्षा. देखते हैं, इसमें कौन बेहतर साबित होता है.’

आरोप

गौरतलब है कि जेडीएस और कांग्रेस ने बीजेपी पर जहां हॉर्स ट्रेडिंग का आरोप लगाया है वहीं, बीजेपी ने कांग्रेस पर चोर दरवाजे से सत्ता पर फिर से काबिज होने का आरोप लगाया है.

येदियुरप्पा द्वारा राज्यपाल वजुभाई वाला से मिलकर सबसे बड़ी पार्टी होने की हैसियत से सरकार बनाने का दावा पेश करने के बाद मुख्यमंत्री पद के दावेदार जनता दल सेक्युलर (जेडीएस) के नेता एचडी कुमारस्वामी ने आरोप लगाया की बीजेपी ने उनकी पार्टी के विधायकों को 100 करोड़ रुपए और मंत्री पद का ऑफर दिया है.

कुमारस्वामी ने आगे कहा कि, यह कालाधन कहां से आ रहा है? आयकर अधिकारी कहां हैं?’

कर्नाटक की 224 विधानसभा सीटों में से 222 पर चुनाव हुए थे, जिसमें बीजेपी को 104, कांग्रेस को 78, जेडीएस को 38 और अन्य को दो सीटें मिली हैं; इस कारण सरकार बनाने के लिए जोड़ – तोड़ जोरों पर है.