संजय निरुपम पर MNS कार्यकर्ताओं की पिटाई के मामले में FIR दर्ज

मुंबई: कांग्रेस नेता संजय निरुपम पर बिना इजाजत सभा करने और फेरीवालों को भड़काने को लेकर एफआईआर दर्ज की गई है। और महाराष्‍ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) के कार्यकर्ताओं की पिटाई के मामले में 7 फेरी वालों को गिरफ्तार किया गया है। सभी फेरी वालों के खिलाफ आईपीसी की धारा 307 यानी हत्या की कोशिश का मामला दर्ज किया गया है।

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार, पूरा विवाद कांग्रेस नेता संजय निरुपम के एक बयान के साथ शुरू हुआ। दरसअल संजय निरुपम कल दोपहर करीब एक बजे अपने पूरे दल-बल के साथ मुंबई में फेरीवालों से मिलने पहुंचे। इस दौरान वो कई बार MNS और बीजेपी को ललकारते नजर आए।

भीड़ की मौजूदगी से गदगद संजय निरुपम ने कह दिया कि खुद को बचाने के लिए कानून हाथ में लेना पड़े तो लो लेकिन गुंड़ों से मार मत खाओ। संजय निरुपम की सभा खत्म होते ही MNS कार्यकर्ता एक बार फिर से मलाड स्टेशन पर फेरीवालों के बीच पहुंचे। इस बार उनका दांव उल्टा पड़ गया।फेरीवालों ने MNS कार्यकर्ताओं की बीच बजार में पिटाई कर दी।

बता दे ,मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष संजय निरूपम ने शनिवार को एक सभा के दौरान फेरीवालों को संबोधित किया था। इस दौरान उन्होंने एमएनएस और बीजेपी पर आरोप लगाते हुए फेरीवालों से आह्वान किया था कि अगर वो लोग (MNS कार्यकर्ता) कानून को हाथ में ले सकते हैं तो आप भी ऐसा कर सकते हैं।

एमएनएस प्रमुख राज ठाकरे आज घायल कार्यकर्ताओं से मिलने अस्पताल पहुंचे।