प्रदूषण बढ़ने से दिल्ली में सभी निर्माण पर लगी रोक

नई दिल्ली: दिल्ली में प्रदूषण बढ़ने की वजह से सभी निर्माण कार्यों पर रोक लगा दी गई हैं। परिस्थिति काबू में आने तक रोक लगी रहेगी। यह आदेश केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड का है। बोर्ड ने स्टोन क्रशर के काम पर भी रोक लगा दी हैं। बोर्ड का कहना है कि, फायर ब्रिगेड से पानी का छिड़काव होगा और मशीनों से दिल्ली की सड़कों की सफ़ाई करवाई जाएगी। इस मामले पर उपराज्यपाल 3 बजे बैठक करेंगे।

नीति आयोग की बैठक के बाद केन्‍द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि मैंने दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री और पर्यावरण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन के साथ विशेष बैठक बुलाने का फैसला किया है। जिसमें दिल्‍ली को वायु और जल प्रदूषण से मुक्त करने के लिए एक योजना तैयार की जाएगी।

मंत्रालय ने इन दिनों दिल्ली में वायु प्रदूषण का स्तर बढ़ने को अस्वाभाविक बताते हुये कहा कि इसकी मुख्य वजह राजस्थान में आने वाली धूल भरी आंधी है। उसके कारण दिल्ली एनसीआर क्षेत्र में हवा के कम दबाव का क्षेत्र बनने की वजह से हवा में मिले धूलकण जमीन से कुछ ऊंचाई पर जमा हो जाते हैं। मंत्रालय के अनुसार अगले तीन दिनों तक दिल्ली में यह स्थिति बरकरार रहने की आशंका जताई गयी है। इसलिए केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने राज्य इकाई के माध्यम से स्थानीय निकायों और निर्माण क्षेत्र से जुड़ी एजेंसियों से लगातार पानी का छिड़काव करने को कहा गया है। और दिल्ली के मुख्य सचिव को इस विषय में सभी एजेंसियों को आवश्यक दिशानिर्देश देने को कहा है। साथ ही निर्णाम क्षेत्र के आस पास रहने वाले लोगों को ज्यादा देर खुले में ना रहने की सलाह दी गई हैं।