सृजन घोटाले में 8 लोगों पर केस दर्ज

बिहार : सीबीआई ने 780 करोड़ के सृजन घोटाले में एक बार फिर पेंच कसा हैं। बिहार में हुए इस मामले में 8 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। सृजन महिला विकास समिति और पूर्व बैंक अधिकारियों पर आपराधिक षड्‍यंत्र, बेईमानी और कूटरचना का मामला दर्ज हुआ हैं। भागलपुर की स्वयंसेवी संस्था सृजन विकास सहयोग समिति के बैंक खाते में सरकारी योजनाओं के पैसों का आदान-प्रदान होता था। उन पैसो का प्रयोग संस्था के लोग निजी कार्यों के लिए करते थे। सूचना के अनुसार यह धोखाधड़ी 2009 से चल रही थी।

विपक्षी पार्टी सरकार को इस मामले में लगातार घेरते रहा है, आरजेडी उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने सीबीआई जांच पर सवाल उठाए थे। उन्होंने कहा था कि सृजन मामले में अब तक मुख्य आरोपियों को नहीं पकड़ा गया, नीतीश कुमार और सुशील मोदी जानकारी होते हुए भी बातों को छुपाना चाह रहे हैं। वहीं सत्ता पक्ष ने कहा था कि आरजेडी को ज्यादा बेताब होने की जरूरत नहीं है, सीबीआई मामले की जांच कर रही है। यह बिहार का अब तक का सबसे बड़ा घोटाला है। इस मामले में अब तक 17 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी हैं। वही 12 लोगों के खिलाफ आरोप पत्र जारी किया गया है।

इस पूरे मामले को अंजाम देने वाली मनोरमा नामक महिला थी, जिसका फरवरी 2017 में निधन हो गया था। सृजन एनजीओ की देख -रेख मनोरमा ही करती थीं। मनोरमा की मौत के बाद उनके बेटे और बहू भी इस घोटाले में शामिल हुए थे।