अमित शाह ने दिया राहुल गाँधी के ट्वीट का जवाब

नई दिल्ली : कर्नाटक में बिना बहुमत के बीएस येदियुरप्पा के गुरुवार को तीसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। इसे लेकर कांग्रेस-जेडीएस और भाजपा के बीच सियासी घमासान मचा हुआ है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा कर्नाटक में भाजपा सरकार पर सवाल खड़े करने और संविधान के साथ मजाक करने का आरोप लगाने के बाद अमित शाह ने उन्हें जवाब दिया है। अमित शाह ने ट्वीट कर कहा कि, कांग्रेस अध्यक्ष को जाहिर तौर पर अपनी पार्टी का ‘गौरवशाली’ इतिहास याद नहीं होगा। भयावह आपातकाल, अनुच्छेद 356 का जबरदस्त तरीके से गलत इस्तेमाल, कोर्ट, मीडिया और सिविल सोसायटी को नीचा दिखाना राहुल गांधी की पार्टी की विरासत है।

मित शाह ने लिखा, कर्नाटक में किसके पास जनता का साथ है? बीजेपी, जिसे 104 सीटें मिली हैं या कांग्रेस जिसको 78 सीटें मिली हैं और उसके सीएम-मंत्री खुद बड़े अंतर से हारे हैं। जेडीएस को 37 सीटें मिली हैं और कई जगह जमानत जब्त हो गई है। जनता सब जानती है।

अमित शाह ने जवाबी ट्वीट में कहा, ”लोकतंत्र की हत्या तो उसी वक्त हो गई थी, जब कांग्रेस ने सरकार बनाने के लिए जेडीएस के साथ अवसरवादी गठबंधन कर लिया था। यह सब कर्नाटक की भलाई के लिए नहीं बल्कि राजनीतिक फायदे के लिए हुआ, जो शर्मनाक है।

आपको बता दें कि इससे पहले राहुल गांधी ने एक ट्वीट कर कहा था कि बीजेपी स्पष्ट बहुमत न होने के बावजूद कर्नाटक में सरकार बनाने पर अड़ी है। यह संविधान के साथ मजाक है। आज जब भाजपा अपनी ‘पवित्र’ जीत का जश्न मना रही है, तब दूसरी तरफ भारत लोकतंत्र की हार पर शोक मनाएगा।