आप पार्टी को कुमार विश्वास पर नहीं रहा विश्वास, वक्ताओं की सूचि से हटाया नाम

नई दिल्ली : ओखला से विधायक अमानतुल्ला की आम आदमी पार्टी (आप) में वापसी के बाद पार्टी में आपसी घमासान बढ़ गए है। इसा बात का पता तब चला जब पार्टी के वरिष्ठ नेता कुमार विश्वास का नाम पार्टी की राष्ट्रीय परिषद की बैठक में नहीं दिखाई दिया।

पार्टी ने राष्ट्रीय परिषद की बैठक में कुमार विश्वास का नाम शामिल नहीं किया है। बता दें कि अभी तक पार्टी की चार बैठकें हुई हैं, जिनमें विश्वास ने मंच संचालन किया था। कुमार विश्वास ने इन फैसले के बाद बागी तेवरों के संकेत भी दे दिए हैं। सूत्रों द्वारा प्राप्त जानकारी के मुताबिक विश्वास ने कहा कि इस बार वक्ता पद से उनका नाम हटाया गया है। वह एक आम कार्यकर्ता की हैसियत से ही बैठक में सहभागी होंगे।

अमानतुल्ला की पार्टी में वापसी के सवाल पर पर कहा कि वह टिप्पणी कर इस खेल फंसना नहीं चाहते हैं। दो नवंबर को पार्टी की राष्ट्रीय परिषद की पांचवीं बैठक हो रही है। इस बैठक में विश्वास और विधायक अमानतुल्ला खान के बीच आपसी विवाद के कारण इस बैठक के हंगामेदार रहने के पूरे आसार हैं। पार्टी ने ओखला से पार्टी विधायक अमानतुल्ला खान का निलंबन रद्द कर उन्हें पार्टी में बहाल कर दिया है। गौरतलब है कि अमानतुल्ला को पार्टी के वरिष्ठ नेता कुमार विश्वास को लेकर विवादित बयान देने पर निलंबित किया गया था।

खान ने कुमार विश्वास पर गंभीर आरोप लगाए थे और उन्हें भाजपा -आरएसएस का एजेंट तक बता दिया था। खान की मानें तो पार्टी उन्हें जो भी जिम्मेदारी देगी, उसे वह पूरी तरह से निभाएंगे। उनका कहना था कि उन्होंने पहले भी पार्टी के फैसले का सम्मान किया था और आज भी पार्टी के फैसले का सम्मान करते है। कुमार विश्वास के बारे में अपने पिछले बयान के बारे में पूछे जाने पर अमानतुल्ला ने कहा कि मैं इस मुद्दे पर कुछ नहीं कहना चाहता। इस बार बैठक का संचालन उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया करेंगे। पार्टी प्रवक्ता संजय सिंह देश के आर्थिक परिदृश्य पर और आशुतोष पार्टी कार्यकर्ताओं और जनता के बीच संवाद मजबूत करने के मुद्दे पर बोलेंगे।