“मन की बात ” कार्यक्रम में पीएम मोदी ने दिया ‘खादी फॉर ट्रांसफॉरमेशन’ का नारा, और कही यह 10 खास बातें

नई दिल्ली: पीएम मोदी ने आज अपने रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ के जरिए लोगों को संबोधित किया. पीएम मोदी के कार्यक्रम का यह 37वां एपिसोड था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को रेडियो पर अपने ‘मन की बात’ कार्यक्रम के जरिए देश और विदेश में रहने वाले भारतीयों के साथ अपने विचार साझा किए. पीएम मोदी ने सबसे पहले देशवासियों को छठ पूजा की बधाई दी. उन्होंने कहा कि छठ पूजा का पर्व प्रकृति की उपासना से जुड़ा है. उन्होंने कहा कि छठ पूजा हमें साफ-सफाई और अनुशासन सिखाती है.

पीएम मोदी की “मन की बात” में कही खास बाते

पीएम मोदी ने कहा, छठ देश में नियमों के साथ मनाए जाने वाले बड़े त्योहारों में से एक है. आस्था के इस महापर्व में उगते और डूबते सूर्य की पूजा होती है. दुनिया उगने वालों की पूजा करती है लेकिन छठ में ऐसा नहीं है. छठ में प्रसाद मांगकर खाने की विशेष परंपरा रही है.

पीएम ने सुरक्षा बलों के साथ दिवाली बनाने को लेकर कहा कि यह अविस्मरणीय रहा. जब हमें अवसर मिले हमें उनके अनुभव जानने चाहिए. हममें से कई लोगों को पता नहीं होगा कि हमारे जवान न सिर्फ बॉर्डर पर बल्कि विश्व भर में शांति स्थापित करने में भूमिका निभा रहे हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यूएन मिशन में भारत की सक्रिय भागीदारी के बारे में बात की. भारत के 18 हजार सैनिकों ने यूएन शांति मिशन में हिस्सा लिया है और अभी 7 हजार जवान यूएन मिशन में हिस्सा ले रहे हैं.

भारत शांति दूत के रूप में हमेशा से ही विश्व में शांति का संदेश देता रहा है। लाइबेरिया में भारत ने पहली बार महिला यूनिट भेजी.

उन्होंने खेल के क्षेत्र में भारतीय खिलाड़ियों के प्रदर्शन की तारीफ की. हॉकी और बैडमिंटन खिलाड़ियों की तारीफ करते हुए कहा कि इससे देशवासियों को गर्व करने के मौके मिले हैं. मोदी ने फीफा अंडर-17 वर्ल्ड के सफलतापूर्वक आयोजन के लिए भी संबंधित संस्थाओं की तारीफ की.

उन्होंने मन की बात कार्यक्रम के माध्यम से आज ‘खादी फॉर ट्रांसफोर्मेशन’ का नया नारा दिया और कहा कि धनतेरस के दिन खादी की 1.2 करोड़ की रिकॉर्ड बिक्री हुई है.

पीएम मोदी ने देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू के जन्मदिवस (बाल दिवस) की सभी देशवासियों को बधाई दी और कहा कि बच्चे खुले मैदान में खेलने की आदत बनाए. संभंव हो तो बड़े भी बच्चों के साथ जाएं. स्कूल से पहले तीस मिनट का योग बहुत लाभ देगा.

उन्होंने वल्लभ भाई पटेल का जिक्र करते हुए कहा कि उन्होंने देश को एक सूत्र में बांधने में बड़ी भूमिका निभाई है. देश को एक करने का काम सिर्फ वही कर सकते थे. उन्होंने कहा था कि जाति और पंथ का कोई भेद हमें रोक ना सके. सभी भारत के बेटे और बेटियां हैं.

सिस्टर निवेदिता को याद करते हुए उन्होंने कहा कि दुनिया भर में उन्होंने देश का नाम रोशन किया. 1899 में जब प्लेग हुआ तब उन्होंने सफाई का काम किया. उन्होंने स्वास्थ्य की चिंता किए बिना काम किया. वह आरामदायक जीवन जी सकती थीं लेकिन उन्होंने सेवा का रास्ता चुना.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने कार्यक्रम के माध्यम से कहा कि 4 नवंबर को गुरुनानक जयंती को धूमधाम से मनाएंगे.